‘ड्रीम प्रोजेक्ट’ को पलीता लगाने वाले सिडकुल पर बरसे त्रिवेंद्र!

बर्दाश्त नहीं लापरवाही

  • वर्ष 2015-16 में सिडकुल को बनाया था कार्यदायी संस्था, लेकिन अब तक शुरू नहीं किया काम
  • अब मुख्यमंत्री ने शहरी विकास विभाग से रुड़की में यह वेस्ट टू एनर्जी प्लांट तैयार करने को कहा  
  • इसके बाद देहरादून और उधमसिंह नगर में भी पर्यावरण संरक्षण को बनेंगे वेस्ट टू एनर्जी प्लांट

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आज मंगलवार को सचिवालय में आयोजित बैठक में पर्यावरण संरक्षण के लिये अपने ड्रीम प्रोजेक्ट वेस्ट टू एनर्जी प्लांट को रुड़की में समय पर स्थापित न किये जाने पर नाराजगी जताई।
बैठक में बताया गया कि रुड़की में वेस्ट टू एनर्जी प्लांट स्थापित करने के लिए 2015-16 में सिडकुल को कार्यदायी संस्था बनाया गया था, लेकिन इस प्लांट पर कार्य शुरू नहीं हुआ। इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए मुख्यमंत्री ने शहरी विकास विभाग के माध्यम से प्रक्रिया जल्द शुरू करने के निर्देश दिये। अब यह वेस्ट टू एनर्जी प्लांट शहरी विकास विभाग द्वारा बनाया जायेगा। त्रिवेन्द्र ने कहा कि इस प्लांट को समय पर पूरा किया जाए। इसमें कोई लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने इस प्लांट के लिए 05 सितम्बर तक बिड प्रक्रिया पूर्ण करने के निर्देश दिये। इसके बाद देहरादून एवं उधमसिंह नगर में भी वेस्ट टू एनर्जी प्लांट बनाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि पॉलिसी के हिसाब से ऊर्जा विभाग की सहमति लेकर प्रक्रिया जल्द शुरू की जाये। इस अवसर पर शहरी विकास मंत्री मदन कौशिक, मेयर रुड़की गौरव गोयल, विधायक प्रदीप बत्रा, अपर मुख्य सचिव मनीषा पंवार, सचिव शैलेश बगोली, एसए मुरूगेशन, अपर सचिव विनोद कुमार सुमन, कैप्टन आलोक शेखर तिवारी, नगर आयुक्त रुड़की नुपुर वर्मा आदि उपस्थित थे। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here