सोमवती अमावस्या : त्रिवेंद्र बोले, मन चंगा तो कठौती में गंगा!

  • मुख्यमंत्री ने 20 जुलाई के दिन इस पर्व पर मां गंगा में डुबकी लगाने के बजाय घर पर ही मां गंगा का स्मरण कर की स्नान करने की अपील

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने प्रदेशवासियों से अपील की है कि आगामी 20 जुलाई को सोमवती अमावस्या के दिन कोरोना महामारी के प्रकोप के कारण हरिद्वार में मां गंगा में स्नान करने के बजाय हम सब घर पर ही मां गंगा का स्मरण करके पवित्र भावों से स्नान करें ताकि इस महामारी के काल में आप सब उत्तराखण्ड सरकार को सहयोग कर सकें।त्रिवेन्द्र ने कहा कि सोमवती अमावस्या के दिन तमाम हिन्दुओं की इच्छा होती है कि हरिद्वार जाकर मां गंगा में हर की पैड़ी में सामूहिक स्नान करें लेकिन वर्तमान परिस्थितियां इसके लिए अनुमति नहीं दे रही हैं। परिस्थितियां सामान्य होंगी तो फिर हम पूरी सादगी के साथ, श्रद्धा के साथ व विश्वास के साथ हरिद्वार में मां गंगा में स्नान कर सकेंगे।
उन्होंने कहा, हम सब जानते हैं कि देश में पिछले चार पांच महीनों से कोरोना महामारी का प्रकोप चल रहा है। ऐसे में आप सबके सहयोग से इस महामारी को रोकने का प्रयास किया जा रहा है और उसके परिणाम भी सामने देखने को मिल रहे हैं। भारत एक त्योहारों का देश है हमारी धार्मिक मान्यताएं हैं और तमाम ऐसे सामाजिक कार्य इस दौरान होते रहे हैं लेकिन उसका स्वरूप परिस्थितियों के अनुसार हमने परिवर्तित किया है।
उन्होंने कहा कि मेरी आप सभी से विनम्र प्रार्थना है कि आप सरकार के साथ मिलकर इस महामारी से लड़ने के लिए संकल्प लें, ‘कोरोना को भगाना है और देश को जिताना है।’ आप पूरे श्रद्धापुर्वक अपने घरों पर मां गंगा का स्मरण करके और पवित्र भावों से स्नान करें उसका पुण्य लाभ हम सबको मिलेगा। मुझे विश्वास है आप सब का आशीर्वाद एवं सहयोग हमें प्राप्त होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here