त्रिवेंद्र ने गैरसैंण में तिरंगा फहरा कर रचा इतिहास, दी करोड़ों की सौगात

गैरसैंण। स्वतंत्रता दिवस के मौके पर आज शनिवार को मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने उत्तराखंड की ग्रीष्मकालीन राजधानी में तिरंगा फहराया। उन्होंने भराड़ीसैंण (गैरसैंण) विधानसभा में तिरंगा फहराया और वीर शहीदों को सलामी दी। यहां मुख्यमंत्री ने कई विभागीय योजनाओं का शिलान्यास करते हुए पौधरोपण कार्यक्रम में भी भाग लिया। इस दौरान विधानसभा अध्यक्ष भी उनके साथ मौजूद रहे।
मुख्यमंत्री का भराड़ीसैंण (गैरसैंण) विधानसभा में दो दिन रुकने का कार्यक्रम है। इस पहले मुख्यमंत्री ने आज शनिवार को सुबह साढ़े आठ बजे स्वतंत्रता दिवस की 73वीं वर्षगांठ पर मुख्यमंत्री आवास में तिरंगा फहराया। इसके बाद भाजपा कार्यालय में तथा पुलिस लाइन में आयोजित समारोह में ध्वजारोहण कार्यक्रम में शिरकत की। यहां से सीधे मुख्यमंत्री भराड़ीसैंण गैरसैंण कार्यक्रम में गए। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल के साथ ध्वजारोहण कार्यक्रम में भाग लिया।

इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने 76 करोड़, 67 लाख, 65 हजार की विभिन्न विकास योजनाओं का शिलान्यास एवं लोकापर्ण करते हुए जनपदवासियों को बडी सौगात भी दी।स्वतंत्रता दिवस पर मुख्यमंत्री ने भराडीसैंण विधानसभा परिसर में 6071.82 लाख की विकास योजनाओं का शिलान्यास और 1595.83 लाख की योजनाओं का लोकार्पण किया। जिन योजनाओं का शिलान्यास किया गया उनमें कर्णप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में बुंगीधार-मेहलचैरी-बछुवाबाण मोटर मार्ग के किमी 51 मे डामरीकरण और सुधारीकरण लागत 60 लाख, गैरसैंण में पुनगांव-विषौणा मोटर मार्ग सुधारीकरण व डामरीकरण लागत 312.93 लाख, गोपेश्वर में ईवीएम वेयर हाउस का निर्माण लागत 223.31 लाख, पोखरी के विनायकधार में स्व0 नरेन्द्र सिंह भण्डारी की मूर्ति स्थापना एवं पार्क विकास निर्माण कार्य लागत 14.30लाख, भराडीसैंण में हैलीपैड निर्माण लागत 216.76 लाख, राइका थिरपाक में भौतिक, रसायन व जीवविज्ञान प्रयोगशाला निर्माण लागत 82.02 लाख, हाईस्कूल पुडियाणी में रमसा के तहत विविध कार्य लागत 74.14 लाख, गैरसैंण में अक्षयबाडा पेयजल योजना लागत 83.53 लाख, सारिगंगाव ग्राम समूल पेयजल योजना लागत 94.79 लाख, टंगणी तल्ली से टंगणी मल्ली तक मोटर मार्ग लागत 260.46, कुहेड मैठाणा से रोपा चलधर मोटर मार्ग निर्माण लागत 441.58लाख, कुहेड-मैठाणा पलेठी-सरतोली-मथरपाल-नैथोली मोटर मार्ग लागत 989.23 लाख, मारवाडी-थेंग मोटर मार्ग लागत 813.08 लाख, मारवाडी-पुलना मोटर मार्ग 673.50 लाख, बूंगीधार-मैहलचैरी-बछुवाबाण मोटर मार्ग के किमी 12 से कोलानी मोटर मार्ग लागत 296.69 लाख, रोहिडा-पज्याणा मोटर मार्ग लागत 353.09 लाख, गौचर-ढमढमा मोटर मार्ग लागत 806.04 लाख, नन्द्रप्रयाग-घाट मोटर मार्ग के किमी 11 से मंगरोली मोटर मार्ग 182.44 लाख तथा घाट-थराली मोटर मार्ग के किमी 10 से स्यारी मोटर मार्ग लागत 108.23 लाख शामिल है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने कहा कि गैरसैंण का सुनियोजित विकास होगा। गैरसैंण के विकास के रोडमैप के लिए एक कमेटी का गठन होगा। गैरसेंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाना वक्त की जरूरत था। कोविड 19 में सरकार तेजी के साथ कार्य कर रही है। हेल्थ सिस्टम पहले के मुक़ाबले बेहतर हुआ है।
मुख्यमंत्री ने घोषणा की कि गैरसैंण में 50 बेड का जिला अस्पताल बनाया जाएगा। भराड़ीसैंण विधानसभा में मिनी सचिवालय की स्थापना की जाएगी। नेटवर्किंग का विस्तारीकरण कराया जाएगा। लोक निर्माण विभाग का निरीक्षण भवन 8 कमरों का बनेगा। कोल्ड स्टोरेज एंव फूड प्रोसेसिंग प्लांट बनाया जाएगा। भराड़ीसैंण में ईको पार्क की स्थापना की जाएगी। राजकीय आईटीआई गैरसैंण का भवन निर्माण कराया जाएगा।

इसके बाद उन्होंने विभिन्न विभागीय योजनाओं के शिलान्यास किया। उन्होंने पौधरोपण कार्यक्रम में प्रतिभाग किया। अपराह्न 1:00 बजे कोविड केयर सेंटर भराड़ीसैण का निरीक्षण करने के बाद मुख्यमंत्री रात्रि विश्राम मुख्यमंत्री आवास भराड़ीसैण में करेंगे। कल रविवार को वह सुबह आठ बजे गांव सारकोट, छानी-कोदियाबगड़, दूधातोली पैदल मार्ग से पेशावर कांड के नायक वीरचंद्र सिंह गढ़वाली की समाधि स्थल पर पहुंचेंगे और पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। इसके बाद मुख्यमंत्री जिला पिथौरागढ़ के आपदा प्रभावित क्षेत्र गलाती, कालिका, धारचूला, बरम का हवाई सर्वेक्षण कर बरम में आपदा प्रभावित राहत शिविरों का निरीक्षण करेंगे। वन विश्राम गृह पिथौरागढ़ में अपराह्न पांच बजे पार्टी पदाधिकारियों के साथ बैठक कर रात्रि विश्राम पिथौरागढ़ में ही करेंगे।  मुख्यमंत्री का सोमवार को सुबह 10 बजे देहरादून लौटने का कार्यक्रम है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here