यशपाल आर्य समेत कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं पर मुकदमा दर्ज, जानिए क्या है मामला

रुद्रपुर। उत्तराखंड में मतदान से एक दिन पहले कांग्रेस के तीन बड़े नेताओं पर मुकदमा दर्ज हुआ है। देहरादून में बीजेपी की आईटी सेल की तहरीर पर देहरादून नगर कोतवाली में कांग्रेस की प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी पर आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

वहीं उधमसिंह नगर जिले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य व उनके बेटे और पूर्व विधायक संजीव आर्य पर भी हल्द्वानी में मुकदमा दर्ज हुआ है। बता दें कि अजीत नेगी पुत्र दुर्गा प्रसाद निवासी इंदिरा नगर, गल्ज़वाड़ी, थाना कैंट देहरादून ( संयोजक BJP IT सेल) द्वारा कोतवाली नगर में लिखित तहरीर दी कि गरिमा मेहरा दसौनी द्वारा अपनी फेसबुक आईडी पर आज माननीय मुख्यमंत्री उत्तराखंड की छवि को धूमिल करने व उन्हें बदनाम करने के उद्देश्य से एक असत्य, आपत्तिजनक तथा भ्रामक खबर पोस्ट करते हुए उसे आम जनमानस के बीच प्रचारित प्रसारित करते हुए वर्तमान में जारी आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया गया। लिखित प्रार्थना पत्र पर तत्काल थाना कोतवाली नगर में कांग्रेस प्रवक्ता गरिमा मेहरा दसोनी के विरुद्ध आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन सहित अन्य गंभीर धाराओं में अभियोग पंजीकृत किया है।

बता दें कि बृहस्पतिवार को एफएसटी टीम राजीव कुमार ने कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि सुबह सात बजे नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य कैमरामैन हरजेंद्र सिंह, कांस्टेबल भरत धानिक, होमगार्ड प्रीतम सिंह, चालक राजेंद्र सिंह के साथ आवंटित क्षेत्र हरिपुरा हरसान में चेकिंग कर भ्रमण कर रहे थे।एफएसटी टीम ने बताया कि उन्हें नाम पता गोपनीय रखने की शर्त पर लोगों ने बताया कि नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, उनके बेटे पूर्व विधायक संजीव आर्य की ओर से गांव जबरान निवासी अनिल सैन के घर पर चुनावी सभा की जा रही है। मिली इस सूचना के आधार पर वो अपनी टीम के साथ मौके पर पहुंचे। जहां अनिल सैन के आंगन में नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, उनके बेटे पूर्व विधायक संजीव आर्य और 20 से 25 लोग बैठे थे। जबकि आर्य अपनी पार्टी के पक्ष में मतदान करने को कहे रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here