रामलला की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर देवभूमि में उत्साह, सीएम धामी ने किया श्री रामचरितमानस की चौपाइयों का पाठ

देहरादून। अयोध्या में आज श्रीरामलला के विग्रह की प्राण प्रतिष्ठा को लेकर द्रोणनगरी पूरी तरह से सज चुकी है। भक्तों में अपने आराध्य भगवान राम को लेकर आस्था हिलोरें भर रही है। उनके स्वागत के लिए घरों से लेकर मंदिरों, प्रतिष्ठानों व बाजार को श्रीराम के ध्वज, केसरिया गुब्बारे, फूलों व रंग-विरंगी लाइटों व झालरों से सजाया गया है।

अयोध्‍या के राममंदिर में आज रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा होने जा रही है। मंदिर में आज भगवान राम विराजेंगे और लगभग 500 सालों का इंतजार खत्‍म होगा।  रामलला प्राण प्रतिष्ठा ये बेहद खास पल है, जिसके साक्षी हजारों लोग बनेंगे। रामलला की प्राण प्रतिष्‍ठा को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने आज प्रातः मुख्यमंत्री आवास स्थित देवालय में श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा के शुभ अवसर श्री रामचरितमानस की चौपाइयों का पाठ किया। इसके उपरांत उन्होंने आवास परिसर स्थित गौशाला पहुंचकर गौ माता की सेवा भी की। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कुशल नेतृत्व में श्री राम मंदिर के रुप में सनातन संस्कृति के वैभव की पुनर्स्थापना का साक्षी बनना हम सभी के लिए परम सौभाग्य का क्षण है।

उन्होंने कहा कि 500 वर्षों के लंबे संघर्ष व अनेक रामभक्तों के बलिदानों के बाद इस भव्य व दिव्य महोत्सव का साक्षी बनकर अत्यंत प्रफुल्लित व हर्षित हूँ। राम जन-जन के हैं, राम हर कण में हैं। इस अवसर पर चहुँदिशी आनंद, उत्साह तथा उल्लास है, संपूर्ण जगत में एक अलग ही तरंग और उमंग है। मुख्यमंत्री ने समस्त प्रदेशवासियों से घरों, सामाजिक व धार्मिक स्थलों को स्वच्छ रखने तथा इस पावन अवसर को पर्व की भाँति मनाने का आह्वान किया। उन्होंने सभी से भावी पीढ़ी को इस संघर्ष और प्रभु राम के जीवन से परिचित कराने के लिए उन्हें इसके विषय में अवगत कराने की अपील भी की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री धामी ने प्रभु श्री राम जी से प्रदेशवासियों के मंगल एवं पूरे विश्व में रह रहे सभी सनातनियों के कल्याण की कामना की।

रविवार को मुख्यमंत्री धामी ने सपरिवार श्री राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठा की पूर्व संध्या पर मुख्यमंत्री आवास में फूलों की रंगोली बनाई, पूरे घर में रंग बिरंगी लाइट, दीप प्रज्ज्वलित किए। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी प्रदेशवासी अपने घरों में इस प्राण प्रतिष्ठा के पावन पर्व को उत्साह एवं उमंग से मनाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here