उत्तराखंड : भूस्खलन में घर दबा, दो परिजन लापता

  • पिथौरागढ़ जिले की तहसील तेजम के ग्राम गोठी में आज सुबह नाले में मलबा आने से एक महिला दबी

पिथौरागढ़। जिले में बंगापानी तहसील के धामी गांव के भ्यौला तोक में बीती रात भूस्खलन से एक घर मलबे में दब गया। आज सोमवार सुबह पड़ोसियों को यइ हादसे का पता चला। गांव वालों ने तुरंत मलबा हटाना शुरू किया, लेकिन खबर लिखे जाने तक परिवार के दो सदस्य और मवेशी लापता बताये गये हैं।
रविवार रात भारी वर्षा के कारण गांव के लोगों को इस हादसे के बारे में पता नहीं चल पाया। जब आज सोमवार सुबह गांव वालों ने देखा तो घर की जगह पर मलबा पसरा हुआ था। इससे गांव वालों में हड़कंप मच गया और सब मलबा हटाने में जुट गये। मौके पर राहत बचाव कार्य जारी है।
उधर तहसील तेजम के ग्राम गोठी में आज सोमवार सुबह एक महिला नाले में मलबा आने से दब गई है। बीती रात धारचूला में 67 मिमी और मुनस्यारी में 65 मिमी बारिश ने तबाही मचाई है। मुनस्यारी के नाचनी क्षेत्र में हुई मूसलाधार बारिश से बरागाड़ नदी उफान पर है। इस दौरान बांसबगड़ में जमीन नदी में समाने से मकान को खतरा पैदा हो गया है। मौसम का मिजाज देखकर लोग सहमे हुए हैं।
उत्तरकाशी जिले के बड़कोट में मां यमुना के शीतकालीन मंदिर खरसालीगांव के परिसर की दीवार क्षतिग्रस्त हो गई है। साथ ही यहां यमुनोत्री हाईवे ओजरी डबरकोटी के पास मलबा आने से रविवार रात से बंद पड़ा है। उधर देर रात भारी बारिश के दौरान मसूरी हैप्पी वैली एकेडमी के पास एक बड़ा पेड़ धराशायी हो गया। जिस कारण विद्युत सेवाएं ठप हो गईं। गनहिल में भी एक पेड़ गिरने की सूचना है। मसूरी वन विभाग की टीम द्वारा पेड़ काटकर उसे हटाया जा रहा है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here