अपहरण-हत्या में फंसे लोगों ने ही जिंदा ढूंढ निकाली 12 साल पहले मरी किशोरी!

  • सीबीसीआईडी ने की थी मामले की जांच,  किशोरी के अपहरण व हत्या के आरोप में 9 लोगों को हुई थी जेल

जालौन। जिले के कालपी कोतवाली क्षेत्र में 12 साल पहले अगवा हुई किशोरी जावित्री अलीगढ़ में जिंदा मिली। वह अलीगढ़ में अपने पति और बच्चों के साथ रह रही है। जबकि उसके अपहरण और हत्या के मामले में 9 लोगों को जेल हुई थी।
आज बुधवार को एसपी यशवीर सिंह ने बताया कि मामले की जांच 2008 में सीबीसीआईडी ने की थी और उन्हीं ने चार्जशीट भी लगाई थी। गौरतलब है कि किशोरी के अपहरण के कुछ दिन बाद एक अज्ञात शव मिला था। जिसकी शिनाख्त जावित्री की मां ने अपनी बेटी के रूप में करते हुए 9 लोगों पर मामला दर्ज कराया था। पुलिस के मुताबिक अपहरण-हत्या में फंसे लोगों ने जावित्री को ढूंढ निकाला और मंगलवार को जावित्री की ओर से उसके जीवित होने का प्रार्थनापत्र भी कालपी कोतवाली में दिया गया। इससे सीबीसीआईडी की जांच पर सवाल उठ रहे हैं कि उसकी लापरवाही से नौ लोगों को जेल जाना पड़ा और दुनियाभर की जलालत झेलनी पड़ी। 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here