उत्तराखंड : ड्यूटी से हटाए गए रोडवेज के 200 चालक-परिचालक

कोढ़ में खाज

  • अनुबंध नवीनीकरण न कराने के चलते की ऐसे चालकों और परिचालकों के खिलाफ कार्रवाई
  • ऐसी सभी चालकों, परिचालकों को 10 जून के बाद वेतन भुगतान न करने का भी आदेश जारी

देहरादून। रोडवेज में ठेके पर रखे गए 200 चालकों, परिचालकों को प्रबंधन ने ड्यूटी से हटा दिया है। परिवहन निगम प्रबंधन ने सभी चालकों, परिचालकों के खिलाफ कार्रवाई उनके अनुबंध नवीनीकरण न किए जाने के चलते की है। इसके साथ ही प्रबंधन ने अनुबंध का नवीनीकरण न कराने वाले सभी चालकों, परिचालकों को 10 जून के बाद वेतन भुगतान न करने का भी आदेश जारी किया है। गौरतलब है कि परिवहन निगम में 750 से अधिक चालक, परिचालक ठेके पर हैं। इन चालकों, परिचालकों को हर साल अपने अनुबंधों का नवीनीकरण कराना होता है। हालांकि परिवहन निगम में तमाम ऐसे चालक, परिचालक हैं जिनके अनुबंधों का नवीनीकरण पिछले कई साल से नहीं हुआ है।
गत दिनों परिवहन महाप्रबंधक दीपक जैन की ओर से इस संबंध में सभी सहायक महाप्रबंधकों को दिशा-निर्देश जारी किए गए कि इन चालकों, परिचालकों का अनुबंध नवीनीकरण प्राथमिकता पर कराया जाए। साथ ही जिन चालकों, परिचालकों द्वारा अनुबंधों का नवीनीकरण नहीं कराया जाता है उन्हें 10 जून के बाद परिवहन निगम की जनशक्ति में शामिल न किया जाए। ऐसे सभी चालकों, परिचालकों को ड्यूटी पर किसी भी सूरत में ना भेजा जाए। प्रबंधन के इस फैसले के बाद ज्यादातर  चालकों, परिचालकों ने अनुबंध नवीनीकरण करा लिए, लेकिन 200 के करीब चालकों, परिचालकों ने अनुबंधों का नवीनीकरण नहीं कराया है। महाप्रबंधक दीपक जैन का कहना है कि अनुबंधों का नवीनीकरण न कराने वाले चालकों, परिचालकों को फिलहाल ड्यूटी से हटा दिया गया है। साथ ही 10 जून के बाद उनके वेतन भुगतान पर भी रोक लगाई गई है। 
परिवहन निगम के महाप्रबंधक दीपक जैन ने बताया कि शनिवार को प्रदेश में संचालित 86 बसों से 3340 यात्रियों ने सफर किया और निगम को 3.45 लाख रुपये की आय हुई थी। रविवार को अवकाश के बावजूद 96 बसों से 4175 यात्रियों ने सफर किया। रविवार को 4.08 लाख रुपये की आमदनी हुई है। जैन का कहना है कि राज्य की अंदरूनी हिस्सों के साथ ही दूसरे राज्यों के लिए बसों का संचालन शुरू होने पर यात्रियों की संख्या बढ़ेगी के साथ आमदनी में भी इजाफा होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here